कोरोना वायरस,  स्वास्थ्य

क्या भोजन के माध्यम से कोरोना वायरस फैल सकता है?

क्या भोजन आपको कोरोना वायरस से संक्रमित कर सकता है, क्या भोजन के माध्यम से कोरोनावायरस फैल सकता है, kya khane se corona virus failta hai, kya bhojan aapko corona virus se sankramit kar sakta hai, kya bhojan ke madhyam se corona virus fail sakta hai

भारत में कोरोना वायरस का प्रसार थमता नहीं दिख रहा है। रोजाना सैकड़ों नए मामले सामने आ रहे हैं और प्रतिदिन कोरोना वायरस से मौत की संख्या भी बढ़ रही है। वायरस को दूर रखने के लिए जिन उपायों का पालन करने की आवश्यकता है, उनके बारे में बहुत से लोग अच्छी तरह से जानते हैं, हालाँकि, कई लोगों में यह संदेह है कि क्या कोरोना वायरस हमारे द्वारा खाए गए भोजन से फैल सकता है? इसी बारे में हम इस लेख में चर्चा करने जा रहे हैं और आपको इस प्रश्न के बारे में संदेह स्पष्ट करते हैं।


क्या भोजन आपको कोरोना वायरस से संक्रमित कर सकता है?

क्या भोजन आपको कोरोना वायरस से संक्रमित कर सकता है, क्या भोजन के माध्यम से कोरोनावायरस फैल सकता है, kya khane se corona virus failta hai, kya bhojan aapko corona virus se sankramit kar sakta hai, kya bhojan ke madhyam se corona virus fail sakta hai

विभिन्न स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार भोजन के माध्यम से कोरोना वायरस के फैलने की संभावना बहुत कम है। इसकी तुलना में, अन्य सामग्री या चीजें हैं जिन्हें हम रोज़ाना छूते हैं जैसे कि प्लास्टिक, लकड़ी, आदि में वायरस के चिपके रहने और सतह से आपके शरीर में स्थानांतरित होने की बहुत अधिक संभावना होती है।

यदि आप उन सामग्रियों के बारे में जानना चाहते हैं जिन पर कोरोना वायरस 3 दिनों से अधिक समय तक जीवित रह सकता है तो कृपया पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़े 13 बेहद महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब।

अगर हम कुछ विशेषज्ञों द्वारा किए गए विभिन्न विश्लेषणों पर विश्वास करें तो भोजन के माध्यम से वायरस से संक्रमित होने की बहुत कम संभावना है। जैसा कि, लगभग हर कोई खाना बनाने और खाने से पहले विभिन्न सुरक्षा उपाय करता है जैसे कि सब्जियों, फलों, बर्तनों और अपने हाथों को खाने से पहले ठीक से धोना। जब कोरोना वायरस का कोई वजूद भी नहीं था तब भी ज़्यदातर घरों में साफ़ सफाई का ध्यान रखते हुए ही खाना पकाया और खाया जाता था। अब, वायरस के कारण, लोग अपनी व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने के लिए अतिरिक्त सावधान हो गए हैं।

इसके अलावा, लगभग हर दूसरे व्यंजन, कच्ची सब्जियों और अन्य कच्चे माल को पका के तैयार की जाती है। जिससे खाना पकाने की प्रक्रिया के दौरान, बहुत उच्च तापमान से गुजरता है, जिससे गर्मी के कारण भोजन पर मौजूद कोई भी जीवित वायरस ज़िंदा नहीं बच पाता।

मनुष्य और जानवरों के विपरीत, भोजन वायरस को उपयुक्त प्रजनन भूमि प्रदान नहीं करता है। कुछ विशेषज्ञों का यह भी मानना ​​है कि अगर कोई भोजन की सतह पर मौजूद वायरस वाला खाना खाता है, तो भी वायरस हमारे पेट में मौजूद एसिड से नहीं बच पाएगा। हालाँकि, यह सिर्फ एक धारणा है और इसकी पुष्टि होना बाकी है।

इसलिए, जब तक कोरोना वायरस से बचने के लिए कोई टीका नहीं बना लिया जाता है, तब तक वायरस से संक्रमित होने से बचने के लिए सभी सुरक्षा उपाय करने चाहिए। खाने से पहले सब्जियों और फलों जैसे कच्चे खाद्य पदार्थों को हमेशा अच्छी तरह से धोएं और उन्हें ताजा ही खरीदना सुनिश्चित करें। यदि आप कुछ भी पका रहे हैं तो खाने से पहले इसे कम से कम 3 मिनट के लिए ठीक से पकाने की सलाह दी जाती है।

कोरोना वायरस के बारे में विस्तार से जानने के लिए देखें कोरोना वायरस पर पूरी जानकारी – लक्षण, बचाव के तरीके और आपके राज्य/जिले में सक्रिय मामलों की सूचि

नीचे दिए गए किसी भी बटन को दबाकर इसे अपने प्रियजनों के साथ साझा करें!

मैं पेशे से एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हूं, हालांकि मशीनें मुझे उतनी उत्साहित नहीं करती, जितना कि शब्द करते हैं। मुझे लिखना बहुत पसंद है और विभिन्न स्रोतों से मैं लिखने का अभ्यास करता रहता हूं। कुछ समय से मैने इंटरनेट पर अपना योगदान देना शुरू किया है। मैं अंग्रेजी में कुछ अन्य ब्लॉग भी चला रहा हूं। मुझे इस बात की आवश्यकता महसूस हुई कि हिंदी में एक अच्छी वेबसाइट होनी चाहिए जो हिंदी पढ़ने वाले समुदाय को उपयोगी सामग्री प्रदान कर सके। इसलिए, यह ब्लॉग मुख्य रूप से केवल हिंदी पाठकों के लिए केंद्रित है और हर शब्द विशुद्ध रूप से देवनागरी लिपि में लिखा गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *