जनरल,  ज्ञान

जानिए अपने राज्य के पहले मुख्यमंत्री कौन थे

अपने राज्य के पहले मुख्यमंत्री, पहले मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री का कार्य, मुख्यमंत्री की शक्तियां, हर राज्य के पहले मुख्यमंत्री

भारतीय राज्य के मुख्यमंत्री अपने राज्य के अंतर्गत विभिन्न कार्यों के लिए जिम्मेदार हैं और उनके पास राज्य के भीतर विभिन्न कार्यों का नियंत्रण होता है। एक राज्य का मुख्यमंत्री राज्य के आम जनता द्वारा चुने गए विधायकों का नेता भी होता है। इस लेख में हम ये जानेंगे की भारत में अपने राज्य के पहले मुख्यमंत्री कौन थे, और साथ ही ये भी जानेंगे की एक मुख्यमंत्री के पास कौन कौन सी शक्तियां होती हैं।


भारत में हर राज्य के पहले मुख्यमंत्री की सूची

राज्यपहले मुख्यमंत्री
आंध्र प्रदेश (संयुक्त)नीलम संजीव रेड्डी (1956 – 1960)
आंध्र प्रदेश (अलग)एन चंद्रबाबू नायडू (2014 – वर्तमान)
अरुणाचल प्रदेशप्रेम खंडू थुंगन (1975 – 1979)
असमगोपीनाथ बोरदोलोई (1947 – 1950)
बिहाररी कृष्ण सिन्हा (1947 – 1961)
छत्तीसगढ़अजीत जोगी (2000 – 2003)
दिल्लीचौधरी ब्रह्म प्रकाश (1952 – 1955)
गोवा, दमन और दीव (यूटी)दयानंद बंदोदकर (1963 – 1966)
गोवाप्रताप सिंह राणे (1987 – 1990)
गुजरातजीवराज नारायण मेहता (1960 – 1963)
हरियाणापंडित भागवत दयाल शर्मा (1966 – 1977)
हिमाचल प्रदेशयशवंत सिंह परमार (1952 – 1956)
जम्मू और कश्मीरगुलाम मोहम्मद सादिक (1965 – 1971)
झारखंडबाबू लाल मरांडी (2000 – 2003)
कर्नाटक (मैसूर राज्य)के. चेंगलाराय रेड्डी (1947 – 1952)
केरलई. एम. एस. नंबूदरीपाद (1957 – 1959)
मध्य प्रदेशरविशंकर शुक्ल (नवम्बर 1956 – दिसम्बर 1956)
बॉम्बे स्टेटबी.जी. खेर (1947 – 1952)
महाराष्ट्यशवंतराव चव्हाण (1960 – 1962)
मणिपुरमायेरबम कोइरेंग सिंह (1963 – 1967)
मेघालयविलियमसन ए. संगमा (1970 – 1972)
मिजोरमके. चौ. चुंगा (1972 – 1977)
नागालैंडपी. शीलू एओ (1963 – 1966)
ओडिशाहरेकृष्णा महताब (1946 – 1950)
पंजाब (संयुक्त)गोपी चंद भार्गव (1947 – 1949)
पंजाब (हरियाणा के विभाजन के बाद)ज्ञानी गुरमुख सिंह मुसाफिर (1966 – 1977)
राजस्थानहीरा लाल शास्त्री (1949 – 1951)
सिक्किमकाज़ी लेंडुप दोरजी (1975 – 1979)
मद्रास राज्य (आजादी से पहले का चुनाव)ओ.पी. रामास्वामी रेड्डीयर (1947 – 1949)
मद्रास राज्य (आजादी के बाद का चुनाव)सी. राजगोपालाचारी (1952 – 1954)
तमिलनाडुसी. एन. अन्नादुराई (जनवरी 1969 – फरवरी 1969)
त्रिपुरासचिंद्र लाल सिंह (1963 – 1971)
उत्तर प्रदेशगोविंद बल्लभ पंत (1950 – 1954)
उत्तराखंडनित्यानंद स्वामी (2000 – 2001)
पश्चिम बंगालप्रफुल्ल चंद्र गोश (1947 – 1948)

भारत में मुख्यमंत्री की शक्तियां और कार्य

अपने राज्य के पहले मुख्यमंत्री, पहले मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री का कार्य, मुख्यमंत्री की शक्तियां, हर राज्य के पहले मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री राज्य विधानसभा का नेता होता है।
  • वह किसी मंत्री को इस्तीफा देने के लिए कह सकता है।
  • राज्य के मंत्रियों की सभी गतिविधियाँ मुख्यमंत्री द्वारा नियंत्रित, निर्देशित, और सलाहित हैं।
  • एक मुख्यमंत्री के इस्तीफे से पूर्ण मंत्रिमंडल का इस्तीफा होता है।
  • एक मुख्यमंत्री राज्य योजना आयोग के अध्यक्ष के रूप में कार्य करता है।
  • वह या वह एक वर्ष की अवधि के लिए रोटेशन में संबंधित जोनल काउंसिल के उपाध्यक्ष हैं।
  • राज्य आपातकाल के दौरान, एक मुख्यमंत्री संकट प्रबंधक के रूप में कार्य करता है।
  • मुख्यमंत्री राज्यपाल को सहायता और सलाह प्रदान करता है।
  • वह या वह विभिन्न विभागों के कामकाज के समन्वय के लिए जिम्मेदार हैं।
  • राज्य के सरकारी तंत्र में मुख्यमंत्री का पद पहले से प्रतिष्ठित है।
  • मुख्यमंत्री के पास कैबिनेट चर्चा के प्रस्तावों को स्वीकार करने या अस्वीकार करने की शक्ति है।
  • भारत के मुख्यमंत्री के पास राज्यपाल को किसी व्यक्ति को मंत्री नियुक्त करने की सलाह देने की शक्ति है।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने ये जाना की अपने राज्य के पहले मुख्यमंत्री कौन थे और साथ ही उनकी शक्तियों एवं कार्यों के बारे में भी चर्चा की। उपरोक्त सभी शक्तियों और कार्यों के अलावा, किसी भी भारतीय राज्य के एक मुख्यमंत्री के पास विभिन्न राज्य कार्यों और मंत्रियों पर अधिक अधिकार और नियंत्रण होते हैं।

नीचे दिए गए किसी भी बटन को दबाकर इसे अपने प्रियजनों के साथ साझा करें!

मैं पेशे से एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हूं, हालांकि मशीनें मुझे उतनी उत्साहित नहीं करती, जितना कि शब्द करते हैं। मुझे लिखना बहुत पसंद है और विभिन्न स्रोतों से मैं लिखने का अभ्यास करता रहता हूं। कुछ समय से मैने इंटरनेट पर अपना योगदान देना शुरू किया है। मैं अंग्रेजी में कुछ अन्य ब्लॉग भी चला रहा हूं। मुझे इस बात की आवश्यकता महसूस हुई कि हिंदी में एक अच्छी वेबसाइट होनी चाहिए जो हिंदी पढ़ने वाले समुदाय को उपयोगी सामग्री प्रदान कर सके। इसलिए, यह ब्लॉग मुख्य रूप से केवल हिंदी पाठकों के लिए केंद्रित है और हर शब्द विशुद्ध रूप से देवनागरी लिपि में लिखा गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *