कोरोना वायरस,  जनरल,  स्वास्थ्य

कोरोना वायरस से लड़ने हेतु अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के अनुशंसित उपाय।

कोरोना वायरस से लड़ने और अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने के अनुशंसित उपाय, कोरोना वायरस संकट के दौरान इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय, कोरोना वायरस संकट के दौरान आत्म देखभाल, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के विभिन्न उपाय, coronavirus se ladne ke upay, coronavirus se bachav ke upay, coronavirus ke dauraan apni immunity kaise badhayen, immunity badhane ke tarike, dry cough ka ayurvedic ilaaj, coronavirus ayurveda

भारत में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। घातक वायरस के कारण कई लोग संक्रमित हो रहे हैं और अपनी जान गंवा रहे हैं। स्थिति बिगड़ने के कारण सरकार को लॉकडाउन का विस्तार करना पड़ा। विस्तारित लॉकडाउन, लॉकडाउन 2.0 में क्या कुछ बदलाव किए गए हैं जिनके बारे में जानने के लिए पढ़े लॉकडाउन 2.0 – नियम और सेवाओं की पूर्ण सूची / गतिविधियाँ जो जनता के लिए बंद और खुली रहेंगी।

यदि आप अब तक सुरक्षित हैं, तो यह मत सोचिए कि आप हमेशा के लिए सुरक्षित हैं। कोरोना वायरस किसी को भी, बिना किसी चेतावनी के कभी भी संक्रमित कर सकता है। तो, वायरस के संक्रमण से बचने के लिए, कुछ महत्वपूर्ण उपायों का पालन करना चाहिए जो न केवल आपको कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचाएगा, बल्कि आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी सहायक होगा।

इस लेख में, हम श्वसन स्वास्थ्य के लिए विशेष संदर्भ (आयुष मंत्रालय द्वारा अनुशंसित) के साथ आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के विभिन्न उपायों के बारे में बात करेंगे जो आयुर्वेद द्वारा समर्थित है और वैज्ञानिक रूप से भी सिद्ध है। इसके अलावा, आप कुछ सरल उपायों का पालन करके अपने और अपने परिवार को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं।


कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के अनुशंसित उपाय:

 

कोरोना वायरस से लड़ने और अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने के अनुशंसित उपाय, कोरोना वायरस संकट के दौरान इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय, कोरोना वायरस संकट के दौरान आत्म देखभाल, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के विभिन्न उपाय, coronavirus se ladne ke upay, coronavirus se bachav ke upay, coronavirus ke dauraan apni immunity kaise badhayen, immunity badhane ke tarike, dry cough ka ayurvedic ilaaj, coronavirus ayurveda

1. जब भी आपको प्यास लगे तो हमेशा गर्म पानी ही पियें। कोरोना वायरस संकट के दौरान ठंडा पानी पीने से बचें। आप चाहें तो गर्म पानी को स्टोर करने के लिए थर्मस का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. खाना बनाते समय मसालों में, अदरक, लहसुन, हल्दी, जीरा, धनिया आदि का अधिक से अधिक इस्तेमाल करें।

3. रोजाना सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाएं। डायबिटिक लोग शुगरफ्री च्यवनप्राश खा सकते हैं।

4. हर्बल / ग्रीन टी, तुलसी का काढ़ा पिएं। दालचीनी पाउडर, काली मिर्च, सोंठ पाउडर और किशमिश को ताजा नींबू के रस या गुड़ के साथ मिलाकर दिन में एक या दो बार लें। कोरोना वायरस के दौरान शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए ये एक बहुत ही अच्छा उपाय है।

5. दिन में एक या दो बार स्वर्ण दूध पियें। स्वर्ण दूध बनाने के लिए, आधा गिलास दूध लें और इसे आधा चम्मच हल्दी के साथ मिलाएं और पी लें।

6. भरी हुई नाक के लिए, नाक के अंदर तिल का तेल, नारियल का तेल या घी रोजाना सुबह और शाम के समय लगाएं।

7. भरी हुई नाक को साफ करने की अन्य विधि “ऑयल पुलिंग थेरेपी” है। इसे करने के लिए आपको 1 चम्मच तिल या नारियल का तेल अपने मुंह में लें। पिए बिना, मुंह में 2 से 3 मिनट तक घुमाएं और इसे थूक दें। फिर, गर्म पानी के साथ कुल्ला करें। आप दिन में एक या दो बार अपनी नाक साफ होने तक यह उपाय कर सकते हैं।

8. खांसी या गले की जलन का इलाज करने के लिए आप लौंग के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर दिन में दो या तीन बार ले सकते हैं।

9. स्वस्थ रहने के लिए कम से कम 30 मिनट तक रोजाना योग, प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास करें।

10. अपना हाथ साबुन से धोते रहें, घर से बाहर जाने से बचें और आपातकालीन स्थिति में बाहर जाने से पहले मास्क पहनना सुनिश्चित करें।


ऊपर चर्चा की गई सभी उपायों को उपरोक्त चिकित्सा शर्तों के मामले में किसी के द्वारा भी पालन किया जा सकता है। लेकिन, यह सलाह दी जाती है कि लक्षणों के दूर न होने की स्थिति में, या इन उपायों का पालन करने के बाद भी, यदि आप अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो डॉक्टर से तुरंत सलाह लें। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि ऊपर बताए गए ये उपाय कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज करने का दावा नहीं करते हैं।

नीचे दिए गए किसी भी बटन को दबाकर इसे अपने प्रियजनों के साथ साझा करें!

मैं पेशे से एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हूं, हालांकि मशीनें मुझे उतनी उत्साहित नहीं करती, जितना कि शब्द करते हैं। मुझे लिखना बहुत पसंद है और विभिन्न स्रोतों से मैं लिखने का अभ्यास करता रहता हूं। कुछ समय से मैने इंटरनेट पर अपना योगदान देना शुरू किया है। मैं अंग्रेजी में कुछ अन्य ब्लॉग भी चला रहा हूं। मुझे इस बात की आवश्यकता महसूस हुई कि हिंदी में एक अच्छी वेबसाइट होनी चाहिए जो हिंदी पढ़ने वाले समुदाय को उपयोगी सामग्री प्रदान कर सके। इसलिए, यह ब्लॉग मुख्य रूप से केवल हिंदी पाठकों के लिए केंद्रित है और हर शब्द विशुद्ध रूप से देवनागरी लिपि में लिखा गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *