कोरोना वायरस,  जनरल,  समाचार,  स्वास्थ्य

कोरोना वायरस से जुड़े 13 बेहद महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब – जानिए कोरोना वायरस को विस्तार से

corona virus ke sawal, corona virus ke sawal aur unke jawab, corona virus ke bachaw ke tarike, corona virus kya hai

कोरोना वायरस को लेकर कई लोगों में काफ़ी खौफ है और अभी भी उनके ज़हन में कोरोना वायरस से संबधित कई ऐसे सवाल हैं जिसकी वजह से उनकी घबराहट अत्यिधिक बढ़ जाती है और वह डिप्रेशन का शिकार बन जाते हैं। आपके सभी सवालों के जवाब आज हम आपको प्रदान करेंगे जिससे हमें आशा है की कोरोना वायरस को लेकर आपकी घबराहट काफी हद तक कम होगी और आप बेहतर ढंग से कोरोना वायरस को जान पाएंगे।


प्रश्न 1. क्या कोरोना वायरस नष्ट हो सकता है?

उत्तर – कोरोनावायरस को नष्ट नहीं किया जा सकता, एक निर्जीव कण होता है जो वसा की एक पतली परत द्वारा संरक्षित होता है जो इसे बाहरी वातावरण से सुरक्षित रखती है। यह कोई ज़िंदा चीज़ नहीं है, इसलिए एक बार शरीर में प्रवेश करने के बाद इसे ख़तम नहीं किया जा सकता। लेकिन शरीर के बाहर प्राकृतिक परिस्थितियों में यह कुछ समय बाद अपने आप नष्ट हो जाता है


प्रश्न 2. बाहरी वातावरण में कोरोना के वायरस को नष्ट होने में कितना समय लगता है?

उत्तर – कोरोना के वायरस का विनाश आस-पास के मौजूदा वातावरण पर निर्भर करता है। गर्मी, सतह का प्रकार, आर्द्रता, आदि ऐसे कारक हैं जिन पर वायरस का अस्तित्व निर्भर करता है।


प्रश्न 3. इसे कणों में कैसे तोड़ा जा सकता है जिससे वायरस पूरी तरह से नष्ट हो जाये?

उत्तर – कोरोनावायरस बहुत कमजोर होता है। इसे वसा की सुरक्षात्मक परत को नष्ट करके मारा जा सकता है जो इसके चारो ओर मौजूद है। एक बार वसा की परत नष्ट हो जाने के बाद वायरस ज़िंदा नहीं रह सकता है और इसका कण-कण नष्ट हो जाता है। इसलिए, अपने हाथों और अपने शरीर के अन्य खुले हिस्सों को साबुन या डिटर्जेंट से धोने की अत्यधिक सलाह दी जाती है। कम से कम 20 से 30 सेकंड के लिए अपने हाथों और अन्य हिस्सों को रगड़ने से वायरस के वसा की सुरक्षात्मक परत टूट जाती है जिसके परिणामस्वरूप वायरस का विनाश होता है।


प्रश्न 4. कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए गर्म पानी कितना प्रभावी है?

उत्तर – हम सभी इस तथ्य से अवगत हैं कि गर्म पानी वसा को पिघलाता है। कोरोनावायरस के मामले में हमें यही करना है। वसा की एक परत द्वारा संरक्षित, कोरोनावायरस को गर्म पानी का उपयोग करके आसानी से नष्ट किया जा सकता है, जिससे इसकी सुरक्षात्मक वसा परत पिघल सकती है। इस प्रकार, अपने कपड़ों, हाथों, खाद्य पदार्थों जैसे सब्जियों, फलों, मांस और चिकन को 25 डिग्री या उससे अधिक गर्म पानी से धोने की सलाह दी जाती है।


प्रश्न 5. कोरोना वायरस को नष्ट करने में हैंड सैनिटाइजर कितना प्रभावी है?

उत्तर – इस प्रश्न का उत्तर देने से पहले हमें पहले यह जानना चाहिए कि सैनेटाइज़र कैसे काम करता है। जब हम अपने हाथों पर सैनिटाइज़र लगाकर अपने हाथों को तेज़ी रगड़ते हैं जिससे अत्यधिक गर्मी पैदा होती है जो वायरस के वसा के सुरक्षा कवच को नष्ट कर देती है जिसके परिणामस्वरूप वायरस नष्ट हो जाता है। अल्कोहल अन्य तरल पदार्थों की तुलना में रगड़ने पर बहुत अधिक गर्मी पैदा करता है। हालाँकि, 65% या अधिक अल्कोहल की मात्रा वाले सैनिटाइज़र का उपयोग करने की सलाह दी जाती है अन्यथा यह उतना प्रभावी रूप से काम नहीं करेगा।


प्रश्न 6. क्या ब्लीचिंग केमिकल युक्त पानी से कोरोना वायरस की सुरक्षात्मक परत नष्ट हो सकती है?

उत्तर – निश्चित रूप से, लेकिन पानी में ब्लीच की मात्रा 20% या उससे अधिक होनी चाहिए। क्लोरीन और ब्लीच जैसे रसायन का छिड़काव दैनिक वस्तु जैसे टीवी रिमोट, डाइनिंग टेबल, कुर्सियां ​​आदि पर करके कोरोनावायरस की प्रोटेक्टिव परत को तोड़ा जा सकता है। वास्तव में मोबाइल फोन और अन्य दैनिक उपयोगी इलेक्ट्रॉनिक्स को ब्लीचिंग-युक्त पानी में भिगोकर निचोड़े गये कपड़े से साफ़ करना चाहिये।


प्रश्न 7. क्या कीटाणुनाशक दवाओं का उपयोग करके कोरोना वायरस को नष्ट किया जा सकता है?

उत्तर – रोगाणु जीवित होते हैं, इसलिए उन्हें एंटीबायोटिक्स का उपयोग करके मारा जा सकता है, लेकिन वायरस प्रकृति में गैर-जीवित हैं और इसलिए एंटीबायोटिक दवाओं का उन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। तो इस प्रश्न का जवाब है नहीं, एंटीबायोटिक्स का उपयोग करके कोरोनावायरस को नहीं मारा जा सकता है।


प्रश्न 8. विभिन्न वस्तुओं पर कोरोना वायरस कितने समय तक सक्रिय रहता है?

उत्तर – अलग-अलग सतह और वस्तुओं पर कोरोनावायरस कई दिनों तक रह सकता है। वस्तुओं के कुछ उदाहरण हैं:

  • कपड़े पर – तीन घंटे तक
  • तांबे पर – चार घंटे तक
  • कार्डबोर्ड पर – चौबीस घंटे तक
  • अन्य धातुओं पर – 42 घंटे तक
  • प्लास्टिक पर – 72 घंटे तक

समय की इस अवधि के बाद, वायरस नष्ट हो जाता है। हालांकि, अगर कोई उस समय अवधि से पहले किसी वस्तु को छूता है तो वायरस त्वचा से जुड़ जाता है और उस व्यक्ति को संक्रमित करता है जो उन्हें कोरोना पॉजिटिव बना सकता है।


प्रश्न 9. क्या कोरोना वायरस को हवा के माध्यम से प्रेषित किया जा सकता है? यदि हाँ, तो वायरस हवा में कब तक रहता है?

उत्तर – हाँ, यह हवा में जीवित रह सकता है और संक्रमित व्यक्ति से हवा के माध्यम से एक स्वस्थ व्यक्ति में स्थानांतरण हो सकता है। वायरस 3 घंटे तक हवा में जीवित रह सकता है जिसके बाद यह अपने आप नष्ट हो जाता है इसलिए सभी लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी जाती है।


प्रश्न 10. कोरोना वायरस किस प्रकार के वातावरण में सबसे लंबे और सबसे कम समय तक जीवित रह सकता है?

उत्तर – कोरोनावायरस अधिक समय तक ठंड, अँधेरी और नम वातावरण में सबसे ज्यादा समय तक सक्रिय रह सकता है। जबकि, गर्म, शुष्क और प्रदीप्त वातावरण में वायरस अधिक समय तक जीवित नहीं रह पाता। तो, यह सलाह दी जाती है कि महामारी के दौरान एयर कंडीशनर या कूलर का उपयोग न करें।


प्रश्न 11. कोरोना वायरस पर तेज धूप का क्या असर होता है?

उत्तर – सूर्य के प्रकाश में पराबैंगनी किरणें होती हैं जो चारों ओर मौज़ूद वसा की सुरक्षात्मक परत को पिघलाकर कोरोनावायरस को विघटित करने में सक्षम होती हैं। सूरज की रोशनी जितनी गर्म होगी, उतना ही यह कोरोना वायरस को नष्ट करने में कारगर होगी लेकिन तेज़ धुप में अधिक देर तक रहने की सलाह नहीं दी जाती है क्यूंकि इससे शरीर को नुकशान भी पहोच सकता है।


प्रश्न 12. क्या कोरोना वायरस हमारी त्वचा के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है?

उत्तर – नहीं, कोरोनावायरस त्वचा के माध्यम से शरीर में नहीं जा सकता है, जब तक कि कोई कट या घाव नहीं होता है तब तक कोरोनावायरस के संक्रमण की संभावना नहीं होती।


प्रश्न 13. क्या पानी में सिरका मिलाकर वस्तुओं पर छिरकाव करने से वायरस को नष्ट किआ जा सकता है?

उत्तर – बिलकुल नहीं, पानी के साथ मिलाकर या शुद्ध सिरके से वायरस की सुरक्षात्मक परत को नष्ट नहीं किया जा सकता है।


आपको यदि इन सवालों के जवाब जानकार थोड़ी राहत मिली हो तो आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को ये आर्टिकल शेयर कर सकते हैं ताकि वे भी कोरोनावायरस को बेहतर ढंग से जान पाएं और आवश्यक कदम उठाकर अपने आप को सुरक्षित रख सके।

इसके अलावा यदि आप कोरोनावायरस से बचाव के तरीको के बारे में जानना चाहते हैं तो आप ये ज़रूर पढ़े कोरोना वायरस पर पूरी जानकारी  – लक्षण, बचाव के तरीके और आपके राज्य/जिले में सक्रिय मामलों की सूचि।

नीचे दिए गए किसी भी बटन को दबाकर इसे अपने प्रियजनों के साथ साझा करें!

मैं पेशे से एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हूं, हालांकि मशीनें मुझे उतनी उत्साहित नहीं करती, जितना कि शब्द करते हैं। मुझे लिखना बहुत पसंद है और विभिन्न स्रोतों से मैं लिखने का अभ्यास करता रहता हूं। कुछ समय से मैने इंटरनेट पर अपना योगदान देना शुरू किया है। मैं अंग्रेजी में कुछ अन्य ब्लॉग भी चला रहा हूं। मुझे इस बात की आवश्यकता महसूस हुई कि हिंदी में एक अच्छी वेबसाइट होनी चाहिए जो हिंदी पढ़ने वाले समुदाय को उपयोगी सामग्री प्रदान कर सके। इसलिए, यह ब्लॉग मुख्य रूप से केवल हिंदी पाठकों के लिए केंद्रित है और हर शब्द विशुद्ध रूप से देवनागरी लिपि में लिखा गया है।

One Comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *